Friday , April 19 2019
Home > Featured > ये हैं वो 5 कारण जिसकी वजह से देरी से शादी कर रहे हैं युवा
5-reasons-why-young-generation-marry-late

ये हैं वो 5 कारण जिसकी वजह से देरी से शादी कर रहे हैं युवा

आजकल का रूटीन कुछ इस तरह से बन गया है कि बच्चे की पढ़ाई पूरी हुई और अभी ननौकरी करते हुए एक साल ही  हुआ होगा कि मां का एक सवाल शुरु हो जाता है कि बेटा शादी कर लो लेकिन उसमें हमारा जवाब होता है कि अभी तो करियर शुरू ही हुआ है, पहले स्टेबल तो होने दो। फिर कर लूंंगा। वहीं ऐसे करते करते लगभग तीन साल बीत जाते हैं और फिर मां का दोबारा सवाल आता है लेकिन इस बार थोड़ा सा सवाल में बदलाव होता है इस बार मां पुछती है कि बेटा कब करोगे शादी, उम्र निकलती जा रही है। लेकिन  इस बार हमारा जवाब भी अलग होता है। और हम कहते हैं कि अभी ढंग से सेविंग नहीं हुई है।

इसमें ऐसा नहीं है कि आजकल की युवा पीढ़ी को शादी पर भरोसा नहीं है या वो शादी नहीं करना चाहते हैं। युवाओं की विशलिस्ट में शादी भीहोती है। ये लिस्ट में तब जरूर आ जाता है जब उनका कोई पुराना दोस्त फेसबुक पर अपनी शादी की तस्वीरें अपलोड करता है। लेकिन आजकल कुछ कारण है जिस वजह से युवा शादी की प्लानिंग लेट करते हैं।

1. फाइनेंशियल स्टेबिलिटी चाहते हैं युवा

हर लड़की का ये सपना होता है कि वो अपने शादी के दिन सबसे ज्यादा खूबसूरत लगे, उसकी शादी का जोड़ा खास हो। वेन्यू, हनीमून और उसके आगे की जिंदगी भी तमाम सुख सुविधाओं से भरी हुई हो। तो वहीं लड़कों को भी अपनी नई जिम्मेदारियों का अहसास होता है, जिसके चलते वो शादी से पहले ही एक स्टेबल करियर और अच्छी सेविंग कर लेना चाहते हैं। ऐसा नहीं है कि पहले के जमाने में लड़की या लड़कों को अपनी जिम्मेदारियों का अहसास नहीं था या उनके कोई सपने नहीं थे। लेकिन करियर को लेकर जितनी इस वक्त मारामारी मची हुई है वो पहले के जमाने में नहीं हुआ करती थी। आज एक अच्छी लाइफस्टाइल, घर और गाड़ी हासिल करना जितना महंगा है, उतना पहले नहीं हुआ करता था।

लेकिन एक समस्या ये भी है कि आजकल की पीढ़ी को सबकुछ जल्दी हासिल करना होता है। इस चक्कर में भी शादी का इरादा वो जिंदगी की गाड़ी में बैक सीट पर रख देते हैं।

2. लड़कियां हायर एजुकेशन और करियर पर फोकस कर रही हैं

अक्सर हमने देखा है कि पहले के जमाने में ग्रैजुएशन के बाद ही लड़कियों की शादी का रिश्ता पक्का कर दिया जाता था। लेकिन आजकल के समय में ऐसा नहीं होता है लड़कियां ग्रैजुएशन से भी आगे पढ़ती है। नौकरी भी करती हैं। और आजकल लड़कों को भी ऐसी ही लड़की चाहिए जो पढ़ी-लिखी हो और नौकरीपेशा हो ताकि वो उसे आर्थिक और मानसिक होनों तरह से सहयोग कर सके।

3. लड़का-लड़की एक दूसरे को समझने के लिए वक्त चाहते हैं

केवल लव मैरिज ही नहीं बल्कि अब अरेंज मैरिज करने वाले लड़के-लड़कियां भी चाहते हैं कि वो शादी से पहले अपने साथी को अच्छे से जान सकें। यही वजह है कि अब शादी से करीब 6-8 महीने पहले ही सगाई कर दी जाती है। इस दौरान लड़का-लड़की को एक दूसरे से बात करने का और समझने का मौका मिल जाता है। वहीं, लव मैरिज करने वाले कपल काफी दिनों तक एक दूसरे को डेट करते हैं, पूरा वक्त लेते हैं एक-दूसरे को जानने-समझने में और फिर उसके बाद घरवालों के सामने शादी का प्रस्ताव रखते हैं।

4. लिव इन रिलेशनशिप को मिली कानूनी मान्यता

भारत में नागरिकों को मिले मौलिक अधिकारों में से एक ‘जीने का अधिकार’ के तहत लिव इन में रह रहे लोगों को भी कानूनी मान्यता हासिल है। अप्रैल 2015 में सुप्रीम कोर्ट के दिए आदेश के अनुसार अगर कोई लड़का और लड़की लंबे वक्त से एक दूसरे के साथ पति-पत्नी की तरह रह रहे हैं, तो उन्हें भी अब शादीशुदा माना जाएगा। इसके अलावा घरेलू हिंसा कानून के तहत भी लिव इन में रह रही महिलाओं को साथ रह रहे पुरुष से निर्वाह-व्यय यानी ऐलमोनी मांगने का हक है।

कुल मिलाकर, लिव इन रिलेशनशिप को भले ही समाज ने अभी स्वीकार न किया हो, लेकिन कानून में इसे पूरी तरह से मान्यता प्राप्त है। इसलिए करियर बनाने में व्यस्त और जिंदगी अपने हिसाब से जीने वाले शादी से पहले लिव इन रिलेशनशिप को महत्व देते हैं। सामने वाले को पास से जानने के बाद ही वो शादी करने का फैसला करते हैं।

5. परफेक्ट मैच

पहले के जमाने में शादी के लिए लड़कियों को खाना पकाना आना और घर के कामकाज में अव्वल होना जरूरी होता था। तो वहीं लड़कों की सैलरी और उसके खानदान का रुतबा ही शादी के लिए उसे योग्य बनाने के लिए काफी होता था। लेकिन आज के दौर में लड़के जहां पढ़ी-लिखी और नौकरीपेशा लड़कियों को अपना जीवनसाथी बनाना चाहते हैं, तो वहीं लड़कियां भी ऐसे पति की तलाश करती हैं जो न सिर्फ दफ्तर के काम करें, बल्कि घर के काम काज में भी उसका साथ दें। दोनों के विचार एक दूसरे से मेल खाते हों। मनचाहा पति या पत्नी पाने के लिए वो इंतजार करते हैं और इस चक्कर में उनकी शादी देर से होती है।

ये भी पढ़ें

इस होली पर भूलकर भी न करें ये 5 काम, रंग में पड़ न जाएं भंग…

सबसे रंगीन त्योहार होली जिसके लिए बहुत से लोग उत्साहित रहते हैं कुछ अपने लाल-पीले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *