Thursday , July 1 2021
Home > Women Talk > हौसले को सलाम: ऑटो ड्राइवर की बेटी ने PCS-J परीक्षा में किया टॉप
auto-drivers-daughter-tops-uttarakhand-judicial-service-civil-judge-examination

हौसले को सलाम: ऑटो ड्राइवर की बेटी ने PCS-J परीक्षा में किया टॉप

कदम छोटे भी हों तो कोई फर्क नहीं पड़ता, बस बढ़ते रहें तो मंजिल नजदीक आती है। ऐसी ही खबर आई है देहरादून से जो हमें प्रेरणा देती है। देहरादून में एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर की बेटी ने ‘राज्य न्यायिक सेवा, सिविल जज 2016’ (Uttarakhand Judicial Service Civil Judge Examination-2016) की परीक्षा में टॉप कर लिया है।

 

उत्तराखंड ज्यूडिशियल सर्विस सिविल (जूनियर डिवीजन) एग्जामिनेशन 2016 के फाइनल रिजल्ट बुधवार को घोषित किए गए, जिसके बाद से पूनम टोडी के घर दोस्तों और रिश्तेदारों द्वारा बधाई देने के लिए होड़ लग गई।

 

टॉप करने वाली पूनम टोडी के पिता अशोक कुमार टोडी (60) ने मीडिया को बताया कि, “मैं आर्थिक तौर पर अपने बच्चों को सुरक्षित भविष्य नहीं दे सकता था, इसलिए मैंने उन्हें अच्छी शिक्षा देने में निवेश किया, जिसने आज रिजल्ट दिया है। पूनम कई सालों से इस एग्जाम की तैयारी कर रही थी और आज हम गर्व महसूस कर रहे हैं।“

 

वहीं पूनम टोडी का कहना है कि, “मैंने चार साल तक इस परीक्षा की तैयारी की थी। इंटरव्यू की तैयारी के लिए मैंने दिल्ली में कुछ कोचिंग क्लासेस लिये। यह मेरी तीसरी कोशिश थी और मुझे खुशी है कि मेरी कड़ी मेहनत ने आखिरकार फल दिया है।“

 

पूनम ने साल 2010 में देहरादून में DAV (PG) कॉलेज से अपना MCom पूरा किया।

 

पूनम को इस फिल्ड में करियर बनाने का मन इसलिए हुआ क्योंकि वो ‘समाज में जज को मिलने वाले सम्मान’ से प्रभावित थी।

 

पूनम के पिता अशोक कुमार ऑटोरिक्शा चलाकर औसतन 300 रुपये प्रति दिन कमाते हैं और परिवार को पालते हैं। पूनम तीन भाई-बहन हैं।

 

ये भी पढ़ें

लालरेमसियामी

पिता के अंतिम संस्कार से ज्यादा जरूरी समझा देश के लिए खेलना, जीतकर लौटी तो मां ने गले से लगाया

भारतीय वीमेंस हॉकी टीम की 19 साल की खिलाड़ी लालरेमसियामी (Lalremsiami) ने एक ऐसा कारनामा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *