Wednesday , December 19 2018
Home > Women Talk > बॉलीवुड की पहली ‘फीमेल सुपरस्टार’ श्रीदेवी का दुबई में निधन
Sridevi passes away

बॉलीवुड की पहली ‘फीमेल सुपरस्टार’ श्रीदेवी का दुबई में निधन

अपने शानदार अभिनय से सिनेमा प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाली बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी (Sridevi) हमारे बीच नहीं रहीं। श्रीदेवी दुबई में थीं जहां उनकी दिल की धड़कन रुक जाने (कार्डियक अरेस्ट) की वजह से उनका अचानक निधन हो गया। श्रीदेवी 54 साल की थीं। उन्हें हिंदी फिल्मों की पहली फीमेल सुपरस्टार भी कहा जाता है। साल 2013 में उन्हें पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया था।

 

bollywood-actor-sridevi-passes-away-dubai

 

उनके पति बोनी कपूर के छोटे भाई और अभिनेता संजय कपूर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि घटना शनिवार रात 11-11.30 बजे की है। संजय कपूर ने Indian Express वेबसाइट को बताया कि वह भी दुबई में ही थे और थोड़ी देर पहले भारत लौटे ही थे कि यह खबर आ गई। अब वह फिर से दुबई जा रहे हैं।

 

दरअसल, श्रीदेवी अपने पति बोनी कपूर और छोटी बेटी खुशी के साथ मोहित मारवाह के शादी समारोह में शिरकत करने दुबई गई थीं। उनके निधन की खबर सुनकर लोग मुंबई में उनके घर के पास जमा हो रहे हैं। उनकी बड़ी बेटी जाह्नवी यहीं हैं। वह शूटिंग में बिजी होने की वजह से परिवार के साथ शादी में दुबई नहीं जा सकी थीं।

 

इधर श्रीदेवी के निधन की खबर सुनकर पूरा बॉलीवुड सदमे में है। बॉलीवुड की ओर से श्रीदेवी को श्रद्धांजलि देने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। प्रियंका चोपड़ा ने ट्वीट किया है, ‘मेरे पास कोई शब्द नहीं है। श्रीदेवी को प्यार करने वाले हर व्यक्ति के प्रति संवेदना। एक काला दिन। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें।’

 

वहीं, प्रीति जिंटा ने लिखा, ‘यह सुनकर दुखी और स्तब्ध हूं कि मेरी ऑल टाइम फेवरिट श्रीदेवी नहीं रहीं। भगवान उनकी आत्मा को शांति और उनके परिवार को ताकत दें।’

 

बॉलीवुड इंडस्ट्री में श्रीदेवी का काफी बड़ा योगदान रहा है। श्रीदेवी ने हिंदी फिल्मों के अलावा तेलगु, तमिल, कन्नड़ और मलयाली फिल्मों में भी काम किया। साल 2012 में उन्होंने इंग्लिश-विंग्लिश के साथ बॉलीवुड में कमबैक किया था। उन्होंने साल 1967 में एक चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी।

 

अलविदा श्रीदेवी, भगवान आपकी आत्मा को शांति दें।

ये भी पढ़ें

international-women-day-2018-women-are-fighting-for-their-rights

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस: 70% महिलाओं को सेक्स या इससे जुड़े मामले तय करने का अधिकार नहीं

देश हो या दुनिया महिलाएं कहीं भी पुरुषों से कम नहीं हैं। अब महिलाएं हर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *