Wednesday , December 19 2018
Home > Understand India > बजट 2018: क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता, जानिए क्या पड़ेगा आम आदमी पर प्रभाव!
Budget 2018 in hindi

बजट 2018: क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता, जानिए क्या पड़ेगा आम आदमी पर प्रभाव!

मोदी सरकार ने अपना आखिरी 2018-19 बजट गुरुवार को पेश कर दिया है।  इस बजट को देश के फाइनेंस मिनिस्टर यानी वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में पेश किया। हर आम बजट के बाद जनता को इस बात को जानने में दिलचस्पी रहती है कि क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता।

 

हर साल बजट का सबसे ज्यादा इंतजार आम आदमी को ही होता है। उनको जानना होता है कि महंगाई के जमाने में किस चीज में राहत मिली है और कौन सी चीज सस्ती हुई है। तो आईए सबसे पहले जान लेते हैं इस बजट में क्या सस्ता हुआ और क्या महंगा?

 

ये चीजें होंगी महंगी-

मोबाइल, टीवी की कीमतें बढ़ेंगी।

विदेशी मोबाइल, लैपटॉप महंगे होंगे।

इलेक्ट्रॉनिक्स और फूड प्रोसेसर पर 5 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी बढ़ी यानी ये भी महंगे।

फ्रूट जूस

सब्जियां

परफ्यूम

जूते-चप्पल

चांदी और सोना

सनस्क्रीन

सनटैन, मैनीक्यूर, पेडिक्यूर का सामान, डेंचर फिक्सेटिव पेस्ट और पाउडर, डेंटल फ्लॉस

शेविंग से पहले और बाद इस्तेमाल किए जाने वाले सामान,  डियोडोरेंट, नहाने का सामान

परफ्यूम वाले स्केंट स्प्रे, टायलेट स्प्रे, टूक और बसों के रेडियल टायर

रेशमी कपड़े, हीरे

कारें और मोटरसाइकिलें

आर्टिफिशियल ज्वेलरी, स्मार्ट वॉच-वियरएबल डिवाइस

फर्नीचर, गद्दे, लैंप, हाथ और पॉकेट घड़ियां, ट्राइसाइकिल, स्कूटर, पेडल कार, पहिये वाले खिलौने, गुड़िया

आउटडोर खेल और स्वीमिंग पूल में इस्तेमाल होने वाले इक्यूपमेंट

सिगरेट और लाइटर, मोमबत्तियां, पतंग

LCD-LED-OLED टीवी के कलपुर्जों यानी पार्ट्स पर सीमा शुल्क बढ़कर 15 प्रतिशत

31 जनवरी 2018 के बाद खरीदा शेयर पर 10 पर्सेंट टैक्स

मेडिकल बिल पर 15 हजार की छूट नहीं रहेगी।

 

ये चीजें होंगी सस्ती-

LNG (लिक्विफाइड नैचुरल गैस)

प्रिपेएर्ड लैदर

देश में तैयार हीरे

सिल्वर फॉयल

POS मशीन

फिंगर स्कैनर

माइक्रो ATM

आइरिस स्कैनर

सोलर बैटरी

ई-टिकट पर से सर्विस टैक्स कम किया गया

कच्चा  (Unprocessed) काजू

सोलर टेंपर्ड ग्लास

कॉक्लीअर इम्प्लांट

कच्चा माल, एक्सेसरीज

 

तो क्या ऐसे बनेगा डिजिटल इंडिया?

मोदी सरकार एक तरफ डिजिटल इंडिया बनाने की बात करती है दूसरी तरफ मोबाइल समेत इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट पर कस्टम ड्यूटी को 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत कर दिया गया है। इसका असर उन निर्माता कंपनी पर भी होगा, जो अपने देश के बाहर से कोई प्रॉडक्ट खरीदते हैं।

जेटली का मानना है कि कस्टम ड्यूटी बढ़ने से घरेलू कंपनियों को राहत मिलेगी और घरेलू कंपनियां विदेशी कंपनियों की तुलना में सस्ते स्मार्टफोन्स या डिवाइस बेचेंगी। लेकिन हकीकत ये है कि इससे ग्राहकों के लिए चीजें पहले से और भी महंगी हो जाएंगी। क्योंकि भारत में भले ही कोई विदेशी कंपनी या भारतीय कंपनी स्मार्टफोन असेंबल कर रही हो लेकिन उनके पार्ट्स चीन जैसे देशों से ही आ रहे हैं। ऐसे में देखा जाए तो स्मार्टफोन्स, टीवी या कोई अन्य डिवाइस ‘मेड इन इंडिया’ हो या फिर भारत में आयात यानी कि ‘असेंबल इन इंडिया’ हो, दोनों प्रकार से ये महंगे ही होने वाले हैं।

 

बजट में बड़े एलान-

इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं। वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए 40  हजार रुपये का स्टैंडर्ड डिडक्शन यानी जितना वेतन है उसमें से 40 हजार रुपये घटाकर जो रकम बचेगी उस पर टैक्स लगेगा।

शिक्षा और स्वास्थ्य पर सेस 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 4 प्रतिशत कर दिया गया

एक लाख रुपये से अधिक के निवेश पर 10 प्रतिशत कैपिटल गेन टैक्स

70 लाख नई नौकरियां बनाने का लक्ष्य

आठ करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन देने की घोषणा

नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम (NHPS) के तहत 10 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त हेल्थ बीमा

किसानों को उनकी फसल पर लागत का डेढ़ गुना दाम मिलेगा

250 करोड़ रुपये तक के टर्न ओवर वाली कंपनियों के लिए 25 प्रतिशत टैक्स

राष्ट्रपति की सैलरी 5 लाख होगी, उपराष्ट्रपति की 4 लाख रुपये और राज्यपाल की सैलरी 3.50 लाख होगी। हर 5 साल में सांसदों की सैलरी की समीक्षा होगी और उसी हिसाब से वेतन भी बढ़ेगा।

 

 

ये भी पढ़ें

Atal Bihari Vajpayee age 10 unseen pics facts

अटल बिहारी वाजपेयी की 10 दुर्लभ तस्वीरें और रोचक तथ्य

भारत के 93 साल (उम्र) के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नहीं रहे। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *