Tuesday , May 11 2021
Home > Business > बजट 2021-22 में क्या सस्ता क्या महंगा… जानें!
बजट 2021-22

बजट 2021-22 में क्या सस्ता क्या महंगा… जानें!

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश किया है। ये बजट काफी अहम था, क्योंकि कोरोना महामारी के बाद ये पहला बजट था और आम जनता को इससे काफी उम्मीदें थीं।

जानते है कि कैसा था बजट 2021-22

वित्त वर्ष 2021-22 बजट में आम जनता को टैक्स स्लैब में कोई छूट नहीं दी गई है। इसके अलावा सरकार ने शराब, काबुली चना, मटर, मसूर की दाल समेत कई उत्पादों पर कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर सेस लगाने की भी घोषणा कर दी है।

वित्त मंत्री ने इस साल कस्टम्स में 400 से ज्यादा छूटों की समीक्षा करने का प्रस्ताव दिया है। वित्त मंत्री ने अप्रत्यक्ष करों में बदलाव की घोषणा जरूर की है। कई तरह के कच्चे माल पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी गई है। कुछ स्टील उत्पादों पर ड्यूटी हटा दी गई है। इसके अलावा कॉपर स्क्रैप पर ड्यूटी को 5% से घटाकर 2.5% कर दिया गया है। मोबाइल्स के कुछ पार्ट्स पर अब 2.5% ड्यूटी चुकानी होगी।

हर बार की तरह इस बार भी बजट के बाद कुछ चीजें सस्ती हुई और कुछ चीजें महंगी हुई हैं। तो आइए जानें बजट 2021-22 में क्या सस्ता और क्या महंगा हुआ है?

सस्ती हुईं चीजें?

  • सोना-चांदी
  • तांबे की वस्तुएं
  • लोहा और स्टील
  • चमड़े के उत्पाद
  • पेंट
  • नाइलॉन के कपड़े
  • ड्राई क्लीनिंग
  • पॉलिस्टर के कपड़े
  • बीमा
  • बिजली

महंगी हुईं चीजें?

  • विदेशी मोबाइल और चार्जर
  • मोबाइल पार्ट्स पर छूट घटी
  • मोबाइल से जुड़ी एसेसरीज
  • शराब
  • चमड़े के जूते
  • सोलर इनवर्टर
  • सोलर सेल
  • आयातित ऑटो पार्ट्स
  • पेट्रोल-डीजल
  • रत्न (जवाहरात)
  • विदेशी खाद्य तेल
  • गाड़ियों के पार्ट्स
  • इलेक्ट्रानिक उपकरण
  • इम्पोर्टेड कपड़े

सरकार के द्वारा इस बजट में कोरोना वायरस के टीके के लिए अलग से 35 हजार करोड़ का बजट भी आवंटित किया गया है। इसके अलावा सरकार ने कृषि क्षेत्र में भी कई ऐलान किए हैं। वहीं हेल्थ के लिए सरकार की तरफ से 2.23 लाख करोड़ का बजट दिया गया है।

ये भी पढ़ें

शराब से राज्यों की कमाई कैसे होती है

शराब से राज्यों की कमाई कैसे होती है?

देश में लॉकडाउन की वजह से सब कुछ बंद है। लेकिन तीसरे लॉकडाउन में सरकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *