Sunday , November 18 2018
Home > Understand India > दादी-पोती की वायरल हो रही तस्वीर का क्या है पूरा सच?
Girl saw her Grandmother at old Home Age Dad said She has gone to relatives place

दादी-पोती की वायरल हो रही तस्वीर का क्या है पूरा सच?

सोशल मीडिया पर हम कई बार ऐसी तस्वीर या वीडियो देख लेते हैं, जो हमें सोचने पर मजबूर कर देती है। हर रोज की तरह हम भी Facebook चला रहे थे। फेसबुक स्क्रॉल करते-करते हमें एक ऐसी तस्वीर दिखाई दी, जहां हमारी नजर रुक गईं।

तस्वीर में एक 11 साल की बच्ची नजर आती है जो स्कूल ड्रेस में है। वह छोटी सी बच्ची एक बूढ़ी औरत से लिपट कर जोर-जोर से रो रही है। तस्वीर में आप देखेंगे कि उस बूढ़ी औरत के चेहरे पर वही दुख का भाव है जो उस बच्ची पर है। पोती को देख उसकी बुढ़ी दादी की आंखों से आंसुओं की धाराएं बहने लगीं।

वायरल हो रही इस तस्वीर के साथ एक छोटी सी कहानी भी थी। फोटो के साथ कहानी पढ़कर जोर का एक झटका लगा। ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने दिल पर हमला किया हो।

वायरल पोस्ट के मुताबिक
तस्वीर के साथ लिखा गया है कि यह कहानी साल 2007 की है। यह छोटी बच्ची जिस स्कूल में पढ़ती थी, वह स्कूल सभी बच्चों को एक ट्रिप के दौरान वृद्धाश्रम घुमाने ले गया था। सभी बच्चे बुजुर्गों से मिल रहे होते हैं और तभी इस बच्ची की नजर खुद की दादी पर पड़ती है और उसके बाद की कहानी तस्वीर खुद बयां कर रही है।

घर से दादी के अचानक गायब हो जाने पर बच्ची अक्सर अपने मां-बाप से उनके बारे में पूछा करती थी। जवाब मिलता था कि वो किसी रिश्तेदार से मिलने चली गई हैं। फिर एक दिन स्कूल की तरफ से बच्ची एक वृद्धाश्रम देखने गई और वहीं पर बाकी बुजुर्गों के बीच उसे अपनी दादी दिखाई दीं।

 

सोशल मीडिया पर गुस्से में हैं लोग

सोशल मीडिया पर लोग तस्वीर शेयर करते हुए लिख रहे हैं कि इस बच्ची की रोती तस्वीर देख कर आपका भी सीना छलनी हो जाएगा। समझ नहीं आता कि हम कैसा समाज बना रहे हैं? किस हक से कोई बेटा अपनी मां को वृद्धाश्रम छोड़ जाता है। वह इतना पत्थर दिल कैसे हो सकता है?

एक छोटी सी बच्ची जो अपने दादी को देखना चाहती है, उससे प्यार करती है। उस बच्ची को किस गिरी हुई मानसिकता के साथ दादी से मिलने नहीं दिया जाता? कैसे मां-बाप होंगे जो रिश्तों का कत्ल कर बच्ची से कहते हैं कि दादी किसी रिश्तेदार के घर गई हैं? ये तस्वीर सामाजिक अन्याय के खिलाफ कई सारे सवाल खड़े करती है।

 

क्या है वायरल तस्वीर की सच्चाई?

Girl saw her Grandmother at old Home Age Dad Viral True or False

BBC की रिपोर्ट के मुताबिक, यह तस्वीर 11 साल पहले वरिष्ठ फोटो पत्रकार कल्पित भचेच ने क्लिक की थी। यह तस्वीर अगले दिन दिव्य भास्कर अखबार के फ्रंट पेज पर छपी थी। उस समय गुजरात में इसे लेकर चर्चा शुरू हो गई थी।

फोटोग्राफर कल्पित भचेच ने BBC हिन्दी को बताया कि उनके तीस साल के करियर में पहली बार ऐसा हुआ था कि उनकी कोई तस्वीर अखबार में छपने के बाद एक हजार से ज्यादा लोगों ने कॉल किए थे।

लेकिन खबर छपने के बाद जब दूसरे मीडियाकर्मी उस दादी से मिलने गए तो उस बुढ़ी औरत ने बताया था कि वह अपनी खुशी से वृद्धाश्रम में रह रही हैं, उनके बेटे को बदनाम ना किया जाए।

दरअसल, उस समय बच्ची को पता था कि उसकी दादी वृद्धाश्रम गई हैं। लेकिन ये नहीं पता था कहां पर। स्कूल की तरफ से वृद्धाश्रम पहुंचने पर बच्ची अचानक दादी को देखकर खुद को रोक ना सकी और लिपट कर रोने लगी थी।

ये भी पढ़ें

बिंदास Bride ने डांस करके दिखा दिया कि दुल्हन भी अपनी शादी में फुल-ऑन मस्ती कर सकती है

क्या सच में 1947 में 1 डॉलर के बराबर था 1 रुपया?

B-ग्रेड फिल्में, जिनके पोस्टर देखकर आप हंसने से खुद को रोक नहीं पाएंगे

कौन है वो युवा साध्वी, जिसके 22 की उम्र में 10 लाख से ज्यादा हैं फॉलोअर्स?

ये भी पढ़ें

atal-bihari-vajpayee-passed-away-death-age

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी ने किया दुनिया को अलविदा, जानिए राजनीतिक सफर

भारत के तीन बार प्रधाममंत्री रह चुके 93 साल (उम्र) के अटल बिहारी वाजपेयी अब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *