Friday , December 14 2018
Home > Technology > आपके 1 मिस्ड कॉल से इतनी होती है टेलीकॉम कंपनियों की कमाई
how-telecom-companies-earn-from-missed-calls-in-india
how-telecom-companies-earn-from-missed-calls-in-india

आपके 1 मिस्ड कॉल से इतनी होती है टेलीकॉम कंपनियों की कमाई

टेलीकॉम इंडस्ट्री में जियो के आने के बाद से बाकी सभी कंपनियों ने भी अनलिमिटेड फ्री कॉलिंग ऑफर देना शुरू कर दिया है। लेकिन एक समय था जब हम पैसे बचाने के लिए एक-दूसरे को मिस कॉल करते थे। हालांकि आज भी बहुत से लोग अपनी मजबूरी में या जानबूझकर ये काम करते हैं। हमें लगता है कि मिस कॉल करने से मेरा पैसा तो नहीं लगा और जिससे बात करनी थी उससे बात भी हो गई।

 

देश में मोबाइल यूजर्स की संख्या 100 करोड़ से भी ज्यादा हो गई है। इनमें से ज्यादातर यूजर्स ग्रामिण इलाके में रहते हैं जो शहर में रह रहे अपने दोस्त या परिवार के सदस्य को मिस कॉल करके बात करते हैं। तो आप यहां ये भी कह सकते हैं कि मिस कॉल के जरिए लोग आपस में जुड़े हुए भी रहते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि मिस कॉल करने से भी टेलीकॉम कंपनियां अपनी कमाई कर लेती है?

 

मिस्ड कॉल से ऐसे होती है कमाई ?

आपने शायद MTC (मोबाइल टर्मिनेशन चार्ज) का नाम सुना होगा। यह वह चार्ज है जो एक टेलीकॉम कंपनी अपने नेटवर्क पर आने वाली दूसरी कंपनियों के इनकमिंग कॉल्स के लिए चार्ज वसूलती हैं। जैसे एयरटेल कंपनी के किसी नंबर पर वोडाफोन नंबर से कॉल या मिस कॉल आने पर एयरटेल वोडाफोन से MTC वसूलेगी। फिलहाल कंपनी अपने नेटवर्क आने वाली हर कॉल्स के लिए 14 पैसे चार्ज करती है।

एक रिपोर्ट की मानें तो देश के तमाम टेलीकॉम ऑपरेटरों ने अपने 50 फीसदी नेटवर्क देश के ग्रामिण इलाकों में स्थापित किए हैं और इनमें से 40 फीसदी नेटवर्क से टेलीकॉम कंपनियों की कमाई ना के बराबर होती है। अब सवाल उठता है कि अगर कंपनियों को घाटा हो रहा है तो वे इस पर खर्च क्यों कर रही हैं। इसका सबसे बड़ा कारण एमटीसी ही है जिससे कंपनियों की कमाई होती है। वहीं कई टेलीकॉम कंपनियां एमटीसी चार्ज को बढ़ाने की मांग कर रही हैं। उनका कहना है कि उनके नेटवर्क पर इनकमिंग कॉल्स को पूरा करने के लिए करीब 30 पैसे का खर्च आता है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक हाल ही में MTC रिव्यू के लिए TRAI (टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया) के साथ हुई बैठक में आइडिया और एयरटेल ने जहां MTC चार्ज को 30 पैसे प्रति मिनट करने की मांग की है, वहीं वोडाफोन ने इसे 34 पैसे करने की मांग की है। अगर ऐसा होता है तो इसका असर बेशक कॉल रेट्स पर भी पड़ेगा, क्योंकि टैरिफ प्लान भी MTC के हिसाब से ही तय होते हैं।

MTC कम होने पर यूजर्स को होगा नुकसान

मौजूदा MTC 14 पैसा है, लेकिन अगर TRAI इसे कम करने का आदेश देती है तो इससे यूजर्स को नुकसान होगा। ग्रामीण इलाकों में नेटवर्क कनेक्टिविटी प्रभावित होगी, क्योंकि टेलीकॉम कंपनियों का कहना है कि MTC कम होने से उन्हें नुकसान होगा और नुकसान की स्थिति में कोई भी कंपनी निवेश करना क्यों चाहेगी। ऐसे में अनचाहे कॉल्स और मैसेज में भी बढ़ोतरी होगी क्योंकि अपनी लागत निकालने के लिए कंपनियां ऐसा कर सकती हैं।

ये भी पढ़ें

xiaomi-mi-a2-launch-price-features

शाओमी Mi A2 भारत में लॉन्च, जानिए कीमत और फीचर्स

दोस्तों काफी लंबे इंतजार के बाद चीन की स्मार्टफोन कंपनी शाओमी ने भारत में अपना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *