Wednesday , December 19 2018
Home > Sports > 25 साल पहले जो ये खिलाड़ी नहीं कर पाया, उसे हासिल करने का एक बार फिर आया मौका
india vs south africa series
india vs south africa series

25 साल पहले जो ये खिलाड़ी नहीं कर पाया, उसे हासिल करने का एक बार फिर आया मौका

टीम इंडिया इस साल अपने जीत के रथ को बरकरार रखने के लिए अब दक्षिण अफ्रीका पहुंच गई है। आने वाले साल की शुरुआत क्रिकेट प्रेमियों के लिए बहुत ही रोमांचक होने वाली है क्योंकि विश्व की 2 दिग्गज टीमें एक-दूसरे से लोहा लेने के लिए 5 जनवरी से मैदान में उतरेंगी। जहां क्रिकेट प्रेमी रोमांचक मुकाबले की उम्मीद में बैठे हैं। तो वहीं सीरीज शुरु होने से पहले ही टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री कह चुके हैं कि टीम इंडिया इस बार इतिहास बनाएगी।

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि विश्व में इस वक्त अपने खेल से हर टीम को पस्त करने वाली टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीकी दौरा कभी भी सफल नहींं रहा है। इस इतिहास के बावजूद भी रवि शास्त्री और टीम इंडिया के बीच आत्मविश्वास की कोई कमी नजर नहीं आ रही है। भारतीय टीम को अक्सर अफ्रीका से हार कर ही देश वापिस लौटना पड़ा है। चाहे वो बात 90 के शुरुआती दशक की ही क्यों ना हो जब दक्षिण अफ्रीका को पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने की अनुमति मिली थी।

दक्षिण अफ्रीका का पहला दौरा करने वाली टीम इंडिया ही थी। उस समय टीम में सचिन तेंदुलकर, मोहम्मद अजहरुद्दीन, कपिल देव, संजय मांजरेकर, अजय जडेजा जैसे दिग्गज खिलाड़ी थे। इन दिग्गजों के साथ उस समय एक खिलाड़ी और भी था जो इस बार भी टीम इंडिया के साथ है।

ये खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि इस वक्त टीम इंडिया का हेड कोच रवि शास्त्री ही है। गौरतलब है कि उस वक्त टीम इंडिया में सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलने वालेे शास्त्री इस बार टीम इंडिया के कोच के रूप में वहां जा रहे हैं। आपको बता दें कि साल 1970 में रंगभेद की नीति के कारण दक्षिण अफ्रीका पर 20 साल के लिए बैन लग गया था जो साल 1990 में खत्म हुआ था। दक्षिण अफ्रीका ने बैन के बाद पहला टेस्ट मैच अप्रैल 1992 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेला था और इसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने नवंबर 1992 में टीम इंडिया के साथ पहली सीरीज खेली थी।

4 टेस्ट मैचों की सीरीज के 3 ड्रॉ रहे जबकि एक मैच दक्षिण अफ्रीका ने जीता था। उस समय टीम इंडिया की कमान अजहरुद्दीन के हाथ में थी। वहीं टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज उस समय रवि शास्त्री और अजय जडेजा निभाते थे। उस पूरी सीरीज में रवि शास्त्री बुरी तरह से असफल रहे थे। पहले तीन टेस्ट मैचों की 5 पारियों में उन्होंने सिर्फ 59 रन बनाए। इस कारण चौथे मैच में उन्हें बाहर कर दिया गया था। वहीं अब लगभग 25 सालों के बाद ये संयोग बना है कि दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली इस सीरीज का हिस्सा भी रवि शास्त्री होंगे। जो मौका उस वक्त रवि शास्त्री के हाथ से निकल गया था वो 25 साल के बाद उनके पास दोबारा आया है।

ये भी पढ़ें

true gentleman rahul dravid

राहुल द्रविड़ हैं एक TRUE GENTLEMAN, इन किस्सों से आप भी मान जाएंगे ये बात

टीम इंडिया के द वॉल ने मौके मौके पर ये साबित किया है कि वो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *