Tuesday , August 20 2019
Home > Sports > IPL XI: आईए नजर डालें उस प्लेइंग इलेवन पर जिन्हें किसी भी टीम में जगह नहीं मिल पाई है

IPL XI: आईए नजर डालें उस प्लेइंग इलेवन पर जिन्हें किसी भी टीम में जगह नहीं मिल पाई है

IPL के 11 वें सीजन की नीलामी में इस बार कुछ अलग ही मंजर देखने को मिला है। कई दिग्गज खिलाड़ी बिके नहीं तो वहीं कुछ खिलाड़ियों को उम्मीदों से ज्यादा पैसा दिया गया है। रिचर्ड मेडली के लकड़ी के हथौड़े से हर साल सैंकड़ों खिलाड़ियों की किस्मत का फैसला होता है। खिलाड़ियों की तकदीर हर बोली के साथ बदलती जाती है। भले ही कोई खिलाड़ी ऑटो रिक्शा ड्राइवर हो या फिर सिक्युरिटी गार्ड का बेटा हो, आईपीएल में बोली लगने के बाद वो आम इंसान नहीं रहता है।

इस साल की नीलामी के दौरान सिर्फ 159 खिलाड़ियों की ही बोली लगाई गई है, लेकिन कई ऐसे भी नामी खिलाड़ी हैं जिन्हें किसी भी आईपीएल टीम में जगह नहीं मिली। न बिकने वाले नामी खिलाड़ियों की लिस्ट में हाशिम अमला, मोइजेज हेनरिक्स और इशांत शर्मा जैसे क्रिकेटर भी शामिल हैं। हम यहां ऐसे ही खिलाड़ियों को मिलाकर एक टीम बना रहे हैं जो आईपीएल 2018 की नीलामी में नहीं बिक पाए थे।

सलामी बल्लेबाज

मार्टिन गप्टिल

टी-20 मुकाबले में तेज और जबरदस्त शुरुआत काफी अहम मानी जाती है। तो ऐसे में सलामी बल्लेबाजों में मार्टिन गप्टिल का नाम सबसे पहले लिया जाता है। आईपीएल 2018 की नीलामी में गप्टिल का न खरीदा जाना एक ताज्जुब की बात थी। गप्टिल ने टी-20 में 33 की औसत और 127 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।

एलेक्स हेल्स

हेल्स उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्हें इस बार आईपीएल में किसी ने नहीं खरीदा है। हेल्स ने टी-20 में काफी नाम कमाया है और उनके शॉट लगाने की क्षमता को हर कोई सलाम कर चुका है। वो जब बल्लेबाजी करते हैं तो किसी भी गेंदबाज को नहीं छोड़ते हैं।

हेल्स की बल्लेबाजी का औसत 30 से कम और स्ट्राइक रेट 140 से ज्यादा है। जो टॉप ऑर्डर बल्लेबाज के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होती है।

मध्य क्रम

शॉन मार्श

शायद इस आईपीएल की सबसे चौंकाने वाली बात ये थी कि किसी भी टीम ने शॉन मार्श को नहीं खरीदों 10 सालों से पंजाब के लिए खेलते रहे मार्श इस बार अनसोल्ड गए। आईपीएल करियर में उनकी बल्लेबाजी का औसत 40 का और स्ट्राइक रेट 132 के आस-पास रही है।

जो रूट

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने पहली बार आईपीएल नीलामी में अपना नाम दिया था। लेकिन उनके लिए किसी टीम के मालिक ने बोली नहीं लगाई। टी-20 में रूट का औसत 32 और स्ट्राइक रेट 126 के आस-पास है।

इयोन मोर्गन

इस बार इयोन मोर्गन सिर्फ टीवी पर आईपीएल देख सकते हैं लेकिन मैदान में खेल नहीं पाएंगे। मोर्गन को आईपीएल का अच्छा खासा अनुभव है। वो कोलकाता नाइटराइडर्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, सनराइज़र्स हैदराबाद और किंग्स-XI पंजाब का हिस्सा रह चुके हैं। मोर्गन टी-20 में गैर पारंपरिक शॉट लगाने के लिए काफी मशहूर है। आईपीएल में उन्होंने 50 मैच में 121 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।

विकेट कीपर और ऑलराउंडर्स

ल्यूक रॉन्ची

आईपीएल में किसी भी टीम को ऐसे विकेटकीपर की तलाश होती है जो बल्लेबाजी में भी कमाल कर सके। न्यूज़ीलैंड के ल्यूक रॉन्ची एक ऐसे ही खिलाड़ी है। जब वो बल्लेबाजी करते हैं तो विपक्षी टीम के गेंदबाजों के छक्के छुड़ा देते हैं। टी-20 में रॉन्ची का स्ट्राइक रेट 153 के आस-पास है।

थिसारा  परेरा

पेरेरा के पास वो सारी काबीलियत है जिसकी बदौलत वो टी-20 क्रिकेट में कामयाब हो सकते हैं। वो चेन्नई सुपरकिंग्स, कोच्चि टस्कर्स, मुंबई इंडियंस, किंग्स इलेवन पंजाब, पुणे सुपरजायंट और सनराइज़र्स हैदराबाद टीम के लिए खेल चुके हैं, लेकिन इस बार उन्हें किसी भी टीम ने नहीं खरीदा।

गेंदबाज

इश सोढ़ी

ये बात निराश करने वाली है कि दुनिया के नंबर वन टी-20 गेंदबाज को आईपीएल में किसी ने नहीं खरीदा है। न्यूजीलैंड में इश सोढ़ी किसी तूफान से कम नहीं हैं। 25 साल के सोढ़ी की टी-20 अंतरराष्ट्रीय में गेंदबाजी की इकॉनमी रेट 7.1 और स्ट्राइक रेट 17 के आस-पास है।

सैम्युअल बद्री

वेस्टइंडीज के सैम्युअल बद्री भले ही एक भी टेस्ट मैच न खेले हो, लेकिन 150 से ज्यादा टी-20 मैच खेल चुके हैं। इसके बावजूद वो आईपीएल में नहीं बिक पाएं। आईपीएल में खेले गए 7 मैच में उन्होंने 9 विकेट हासिल किए हैं। बद्री चेन्नई सुपरकिंग्स, राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर टीम का हिस्सा रह चुके हैं।

डेल स्टेन

पिछले कुछ सालों से अपनी चोट की वजह से परेशान डेल स्टेन को इस बार आईपीएल में भी जगह नहीं मिल पाई है। पहले के सीजन में स्टेन ने 90 मैचों में 6.7 की औसत से 92 विकेट हासिल किए हैं। स्टेन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर, डेक्कन चार्जर्स, गुजरात लॉयंस के लिए खेल चुके हैं।

लसिथ मलिंगा

मलिंगा आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में से एक हैं। इसके अलावा वो मुंबई इंडियंस का हिस्सा रह चुके हैं। मलिंगा ने 110 आईपीएल मैच में 154 विकेट लिए हैं। उनकी पुरानी टीम मुंबई इंडियंस समेत किसी भी टीम ने उन्हें खरीदना सही नहीं समझा है।

ये भी पढ़ें

what-is-obstructing-the-field-out-rule-of-cricket क्या है Obstructing The Field

क्या है Obstructing The Field? क्रिकेट इतिहास में 10 बार इस नियम से आउट हुए बल्लेबाज

Obstructing the field जिसे हिन्दी में ‘मैदान में बाधा उत्पन्न करना’ कहा जाता है। किसी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *