Thursday , July 1 2021
Home > Entertainment > जानिए इरफान खान की बीमारी “न्यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर” के बारे में…

जानिए इरफान खान की बीमारी “न्यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर” के बारे में…

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफान खान की बीमारी क्या है? ये सवाल आप सर्च कर रहे होंगे, तो आपकी मदद के लिए हम आपको बता देते हैं कि वो न्‍यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित थे। जिसके इलाज के लिए वो लंदन भी गए थे। तो ऐसे में जानते हैं कि क्या होता है न्यूरो-एंडोक्राइम ट्यूमर?

क्‍या है एंडो-क्राइन सिस्‍टम

शरीर का एंडो-क्राइन सिस्‍टम कई तरह की कोशिकाओं से मिलकर बनता है, जो कई तरह के हार्मोंस को पैदा करती हैं। हार्मोन केमिकल पदार्थ होते है जो कि खून की कोशिकाओं के जरिए शरीर में बहते है और कई अंगों की कोशिकाओं पर अलग-अलग तरह से असर डालते हैं।

क्‍या होता है ट्यूमर

ट्यूमर उस समय शरीर में बनता है जब कोशिकाओं में किसी तरह का परिवर्तन होता है और वो अनियंत्रित होकर एक गुच्‍छे में बदलने लगती है। किसी भी ट्यूमर का या तो इलाज संभव है या फिर वो जानलेवा साबित हो सकता है। लाइलाज ट्यूमर शरीर के दूसरे हिस्‍सों में फैल जाता है और अगर शुरुआत में ही इसका पता न चले और इसका इलाज न हो।

इरफान खान की बीमारी

दूसरे प्रकार का ट्यूमर ऐसा ट्यूमर होता है जो बढ़ता है लेकिन वो शरीर के बाकी हिस्‍सों पर कोई प्रभाव नहीं डालता है। इस तरह के ट्यूमर को आसानी से निकाल लिया जाता है।

एंडोक्राइन ट्यूमर और न्‍यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर

एंडोक्राइन ट्यूमर शरीर के उस हिस्‍से में होता है जहां से हार्मोन पैदा होते हैं और शरीर के बाकी हिस्‍सों में भेजे जाते हैं। एंडोक्राइन ट्यूमर हार्मोन का उत्‍पादन करने वाली कोशिकाओं से डेवलप होता है और ये ट्यूमर भी हार्मोन प्रोड्यूस करता है। ये हार्मोन ही शरीर में एक गंभीर बीमारी की वजह बनता है।

न्‍यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर वो ट्यूमर होता है जो शरीर के न्‍यूरो-एंडोक्राइन सिस्‍टम के लिए हार्मोन प्रोड्यूस करने वाली कोशिकाओं पर होता है। ऐसी कोशिकाएं जहां से एंडोक्राइन और नर्व कोशिकाओं के लिए हार्मोन पैदा होता है। न्‍यूरो-एंडोक्राइन कोशिकाएं पूरे शरीर जैसे फेफड़ों, पेट और आंतों में होती हैं। न्‍यूरो-एंडोक्राइन कोशिकाएं कुछ खास कामों को अंजाम देती है, जैसे की शरीर में हवा बरकरार रखना और फेफडों के जरिए शरीर में खून संचालन करना।

न्‍यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर के लक्षण

शरीर के किसी भी हिस्से में अचानक से गांठ नजर आना न्‍यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर का सबसे पहला लक्षण होता है। साथ ही ये जानना बहुत अहम होता है कि ये शरीर के किस भाग में हुआ है और कहां तक फैला है। इसके अलावा शरीर की कुछ खास जगहों पर लगातार दर्द होना, भूख कम लगना, वजन घटना, डिप्रेशन, उलझन, घबराहट होना, थकान, बुखार, बार-बार पसीना आना, सिर दर्द इस बीमारी के लक्षण हैं।

इरफान खान की बीमारी

हर वर्ष अमेरिका में इस बीमारी के 12,000 मरीज

एक अनुमान के हिसाब से अमेरिका में हर साल करीब 12,000 लोग इस बीमारी से पीड़‍ित होते हैं। आपको ये जानकर खुशी होगी कि न्यूरो-एंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज संभव है लेकिन तभी जब इसको शुरुआती स्‍तर पर पकड़ा जाए। अमेरिकी विशेषज्ञों के मुताबिक इलाज के पांच साल तक अगर कोई भी व्‍यक्ति स्‍वस्‍थ रहता है तो ये माना जाना चाहिए कि बीमारी ठीक हो गई है। हालांकि ये पांच साल भी इस बात पर निर्भर करते हैं कि ट्यूमर कहा था और किस प्रकार था। यही इरफान खान की बीमारी भी बनी।

ये भी पढ़ें

ऋषि कपूर के मशहूर डायलॉग

ऋषि कपूर के मशहूर डायलॉग जो कभी नहीं भूलाए जाएंगे!

बॉलीवुड के सदाबहार एक्टर ऋषि कपूर का निधन हो गया है। वो लंबे वक्त से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *