Wednesday , December 11 2019
Home > Understand India > ट्रेन में कितने किलो तक फ्री ले जा सकते हैं सामान? बहुत कम लोग जानते हैं ये नियम
Penalty for extra luggage in trains ट्रेन में कितने किलो तक फ्री ले जा सकते हैं सामान?

ट्रेन में कितने किलो तक फ्री ले जा सकते हैं सामान? बहुत कम लोग जानते हैं ये नियम

हम लोग यात्रा करते वक्त अपने साथ ट्रेन में सामान कुछ न कुछ तो जरूर रखते ही हैं, कई बार हमारा सामान ज्यादा हो जाता है। जब हवाई यात्रा करते समय आप ज्यादा सामान लेकर जाते हैं तो आपको या तो जुर्माना देना होता है या फिर सामान को कम करना होता है। लेकिन शायद ही आप लोग ये बात जानते होंगे कि रेलवे में भी सामान को लेकर, कुछ इस तरह के नियम कानून बनाए गए हैं।

क्या है भारतीय रेलवे के नियम

हालांकि इसके बारे में ज्यादातर लोगों को पता नहीं है। भारतीय रेलवे के नियमों के मुताबिक हर इंसान की यात्रा के दौरान मुफ्त सामान ले जाने की सीमा निर्धारित होती है। मुफ्त सामान ले जाने की सीमा ट्रेन के क्लास के हिसाब से अलग-अलग होती है।

ट्रेन में सामान लिमिट सेे ज्यादा ले जाने पर जुर्माना

यात्री की टिकट कैटेगरी के अनुसार, डिब्बे में मुफ्त सामान ले जाने की सीमा के अलावा आप चाहे तो ज्यादा सामान बुक करा कर भी अपने साथ ले जा सकते हैं। अतिरिक्त सामान पर भारतीय रेलवे के पोर्टल के अनुसार लागू सामान दर से 1.5 गुना ज्यादा शुल्क लिया जाता है।

भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट indianrail.gov.in के अनुसार आप हर श्रेणी के हिसाब से इतना सामान मुफ्त में ले जा सकते हैं।

ट्रेन में सामान लिमिट सेे ज्यादा ले जाने पर जुर्माना लगता है।
source: oneindia.com

जिन यात्रियों के बक्से, सूटकेस के माप 100 cms x 60 cms x 25 cms होगी उन्हें सामान ले जाने की अनुमति है। हालांकि यही एसी 3 टियर और एसी चेयर कार कम्पार्टमेंट में 55 सेंटीमीटर x 45 सेंटीमीटर x 22.5 सेंटीमीटर है।

उदाहरण से समझिए
मान लीजिए AC फर्स्ट क्लास श्रेणी में (नि:शुल्क भत्ता) सामान ले जाने की अधिकतम सीमा 70 किलो है, जबकि 15 किलो तक (सीमांत भत्ता) मार्जिनल छूट है। इससे ज्यादा वजन ले जाने पर अतिरिक्त वजन के लिए आपको पेनेल्टी देनी होगी। इस श्रेणी में फीस देकर अधिकतम 150 किलो तक का सामान आप अपने साथ ले जा सकते हैं। 

break van indian railway
ब्रेक वैन

ब्रेक वैन में ले जा सकते हैं बड़ा सामान

आपको बता दें कि बड़ा सामान केवल ब्रेक वैन के माध्यम से ले जाने की अनुमति है, जिसके लिए न्यूनतम शुल्क 30 रुपये है। यात्री ट्रेनों के ब्रेक वैन में सामान की ढुलाई पर कोई बैन नहीं है। वहीं रेलवे की वेबसाइट के मुताबिक, पांच साल से 12 साल तक के बच्चों को अधिकतम 50 किलोग्राम तक मुफ्त भत्ता दिया जाता है।

पढ़ें- ओपिनियन पोल क्या होता है और कैसे कराया जाता है सर्वे? जानिए

ये भी पढ़ें

निपाह वायरस क्या है

निपाह वायरस क्या है? कैसे बचें, क्या है इसके लक्षण

निपाह वायरस क्या है? निपाह वायरस के लक्षण, निपाह वायरस से बचाव केरल के एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *