Wednesday , December 19 2018
Home > Crime > 30 रेप और 15 हत्या का आरोपी था ‘साइको शंकर’, खुदकुशी से की अपनी जिंदगी खत्म

30 रेप और 15 हत्या का आरोपी था ‘साइको शंकर’, खुदकुशी से की अपनी जिंदगी खत्म

तमिलनाडु और कर्नाटक में 30 से ज्यादा रेप और कम से कम 15 हत्या के मामले में अभियुक्त सीरियल रेपिस्ट और कातिल एम जयशंकर ने जेल में ही आत्महत्या कर ली है। आपको बता दें कि साल 2017 में इस सीरियल किलर और रेपिस्ट जयशंकर पर एक कन्नड़ फिल्म ‘साइको शंकर’ भी बन चुकी है।

साल 2008 से लेकर 2011 तक आतंक का पर्याय बना जयशंकर अपनी सजा के दौरान कड़ी सुरक्षा के बीच बांस के डंडे और बेडशीट की मदद से भागने की भी कोशिश कर चुका है।

कौन था साइको शंकर…

सलेम जिला में रहने वाला 41 साल का एम शंकर उर्फ जयशंकर ने 8वीं की पढ़ाई के बाद एक ट्रक ड्राइवर की नौकरी की थी। ट्रक ड्राइवर की नौकरी करते वक्त उसकी तमिल, कन्नड़ और हिंदी भाषा पर अच्छी पकड़ बनती गई। उस बीच ही उसने 39 साल के कांस्टेबल एम जयामनी की हत्य़ा कर दी थी जिसके बाद से वो पुलिस के निशाने पर आ गया था। इस मामले की जांच करने वाले एक पुलिस अधिकारी बताते हैं कि जयशंकर ने पहले उस महिला कांस्टेबल का अपहरण किया फिर उसके साथ रेप किया और अंत में उसकी हत्या कर दी।

त्रिपुर पुलिस ने जयशंकर के खिलाफ खोज अभियान जारी किया और इसके बाद उसे 19 अक्टूबर 2009 को गिरफ्तार किया गया था। उसे कोयंबटूर जेल में रखा गया और जांच के दौरान पुलिस को पता चला था कि इससे पहले भी साल 2008 में त्रिपुर पुलिस के हाथों रेप और हत्या के आरोप में वो गिरफ्तार हो चुका है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ी तो पता लगा कि वो 13 रेप और हत्या के मामले में आरोपी है। इसके अलावा 2008-2009 में त्रिपुर, सालेम और धर्मपुरी जिले में भी रेप का आरोपी रह चुका है।

पुलिसकर्मियों को चकमा देकर भागा

17 मार्च 2011 को जयशंकर को एक हत्या के मामले में अदालत में पेश किया गया और उसके अगले दिन उसे कोयंबटूर जेल वापस ले जाने की तैयारी की गई। लेकिन जयशंकर पुलिसवालों को चकमा देकर भागने में सफल रहा। उसी समय पुलिस अधिकारी चिन्नासामी ने इस घटना पर शर्मिंदा होकर खुद को गोली मार ली।

भागकर फिर से अपराध में हुआ लिप्त

इस बार पुलिस से भागने के बाद जयशंकर ने फिर से रेप और हत्या की वारदातों को अंजाम देना शुरु किया। कर्नाटक के बेलेरे में 6 महिलाओं का रेप कर उनकी हत्या के साथ ही धर्मपुरी में एक शख्स और बच्चे की हत्या को भी इसने अंजाम दिया। आखिरकार कर्नाटक पुलिस ने उसे एक बार फिर से 4 मई 2011 को गिरफ्तार किया। हत्या की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जयशंकर केवल अकेली महिलाओं को निशाना बनाता था। वो उनका शारीरिक शोषण कर उनकी हत्या करता था और फिर वहां से भाग जाता था।

 

ये भी पढ़ें

Bihar-9-kids-killed

मासूमों ने अभी उड़ान भरनी थी सपनों की लेकिन कुचल दिए गए, जिम्मेदार कौन?

उन मासूमों की सिर्फ़ इतनी सी गलती थी कि वो अपने भविष्य को बेहतर बनाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *