Friday , November 27 2020
Home > Amazing World > कोरोना काल में प्रतिद्वंद्वी कंपनियां कह रही “हम साथ-साथ है!”

कोरोना काल में प्रतिद्वंद्वी कंपनियां कह रही “हम साथ-साथ है!”

एक कविता हम सबने सुनी होगी,
साथी हाथ बढ़ाना, साथी हाथ बढ़ाना
एक अकेला थक जायेगा
मिल कर बोझ उठाना
साथी हाथ बढ़ाना

पिछले 8-9 महीनों से सारा विश्व एक ऐसे दौर से गुजर रहा है, कारण जग जाहिर है कोरोना। कोरोना के प्रकोप ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी है। लाखों लोगों ने अपनी नौकरियां गंवाई और जो पहले से तलाश में थे उन्हें दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा है। बात जो समझ में आई वो ये कि इस मुसीबत की घड़ी में एक दूसरे के प्रति संवेदनशीलता ही इससे हमें बाहर निकाल सकती है।

बर्गर किंग ने पेश की मिसाल

आज के दौर में सोशल मीडिया की मदद से कई लोगों की जानें बचाई गई है। जाहिर तौर पर सोशल मीडिया का उपयोग दूरुपयोग दोनों किया जाता है। लेकिन इस कठिन समय में सोशल मीडिया में कुछ ऐसे सुंदर उदाहरण देखे गए हैं, जिसकी सोच ने हर किसी को अचंभित और मोहित किर दिया है। हम बात कर रहे हैं बर्गर किंग द्वारा जारी किए गए उस पोस्ट की जिसने सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।

आम तौर पर हमने किसी दो या उससे अधिक प्रतिद्वंद्वी कंपनियों को अकसर एक दूसरे से बताते हुए देखा है। इस कोरोना महामारी ने लोगों के साथ मार्केट की भी सोच बदलकर रख दी है। हाल ही में बर्गर किंग को उसके प्रतिद्वंद्वी कंपनियों से कॉम्पटिशन करते हुए नहीं बल्कि प्रमोट करते हुए देखा है।

फास्ट फूड चेन बर्गर किंग (लंदन) में अपने ग्राहकों से अपने प्रतिद्वंदियों समेत मैकडॉनल्ड्स से ऑर्डर करने की अपील की है। बर्गर किंग द्वारा शेयर किए गए पोस्ट ने लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा है। बहुत मुमकिन है कि ऐसा करने का शायद ही किसी ने कभी सोचा होगा।

कैडबरी भी कर चुका है लोकल को प्रमोट

वहीं एक कैडबरी दीवाली सेलीब्रेशन एड में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। यह एड “This is not just a Cadbury Ad” के नाम से आपको यूट्यूब पर देखने को मिल जाएगा। इस एड में देश भर में विभिन्न जगहों के विभिन्न लोकल ब्रांड के अलग-अलग सामान को प्रमोट करते दिखाया गया जो कि काबिले-तारीफ है।

ई-कॉमर्स साइट पर शॉपिंग करने के दौर में जहां हम हर जरूरत की चीजों को ऑनलाइन ऑर्डर करके इस्तेमाल करने को प्राथमिकता देते है, ऐसे में हमें लोकल व्यापारियों के बारें में भी सोचने की जरूरत है और यह एड इसी सोच का दर्शाता है कि देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए हर वर्ग को प्राथमिक्ता देने की जरूरत है।

लाइफबॉय ने बनाई बेमिसला एड

मार्केट में बड़ा नाम होने के बावजूद अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनी को एक समान तवज्जो देने की कवायद कुछ महीनें पहले लाइफबॉय ने शुरु की थी। अपने 26 सेकेंड्स के एड में उन्होंने कोरोना के समय कैसे अच्छे तरीके से हाथ धोए, सिर्फ लाइफबॉय ही नहीं बल्कि किसी भी अन्य साबुन से, इसका ही तरीका बताया।

कोरोना महामारी ने लोगों के साथ साथ कंपनियों को एक अलग ही तरह की मार्केटिंग स्ट्रैटेजी का आइडिया सुझाया है। अब मार्केटिंग और प्रोडक्ट सेल के आइडियाज में इतने बदलाव आ चुके है कि ऐसी बातें सोच पाना पहले के समय में नामुमकिन ही था। अब जोमैटो जैसे फुड डिलिवरी कंपनिया, ग्राहकों को मजाकिया तरीके से धमका रहीं है कि हम उनसे अपने पसंदीदा खाने पीने की चीजें ऑर्डर करें। जाहिर तौर इस धमकी के पीछे का कारण एक ही है वो है इन कंपनियों में काम कर रहे स्टाफ की नौकरियों को बचाना ताकी जो बेरोजगारी की समस्या देश में बढ़ रही है, उसे कुछ हद तक संभाला जा सके।

 

By Vandana Lohani

ये भी पढ़ें

दुनिया की सबसे छोटी बच्ची

दुनिया की सबसे छोटी बच्ची, वजन सिर्फ एक सेब के बराबर

अमरीका के एक अस्पताल में 245 ग्राम की बच्ची ने जन्म लिया है जिसे दुनिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *