Wednesday , December 19 2018
Home > Understand India > एक अनोखा मंदिर, जहां चढ़ाया जाता है पत्थरों का चढ़ावा
stone-temple-karnataka

एक अनोखा मंदिर, जहां चढ़ाया जाता है पत्थरों का चढ़ावा

हिन्दू धर्म में मंदिरों या मन्दिर में स्थापित मूर्तियों का खास महत्व होता है। लोग मंदिर में दर्शन करने के लिए कुछ चढ़ावा भी लेकर जाते हैं। वैसे, देखा जाए तो देशभर में लगभग सभी मंदिरों में चढ़ावा चढ़ाया जाता है। लेकिन अपने देश भारत में एक ऐसा मंदिर है जहां पत्थरों का चढ़ावा चढ़ाया जाता है।

कर्नाटक में मंदिर

यह मंदिर कर्नाटक में मांड्या नामक जगह पर स्थित है। आपको अजीब लग सकता है लेकिन यहां पर श्रद्धालु दर्शन करने के बाद पत्थरों का चढ़ावा चढ़ाते हैं। कर्नाटक के मांड्या के किरागांदुरु-बेविनाहल्ली रोड पर स्थित कोटिकालिना काडू बसप्पा मंदिर में आने वाले भक्तों को अलग-अलग साइजों के पत्थर चढ़ावे के रूप में चढ़ाते की ही इजाजत है।

3 से 5 पत्थरों का चढ़ता है चढ़ावा

इस मंदिर में प्रार्थना के लिए 3 या 5 पत्थरों का चढ़ावा चढ़ाया जाता है। इसलिए यहां अलग-अलग साइज के पत्थर जमा हो गए हैं।

stone-temple-karnataka

शिव की मूर्ती

दरअसल बात ये है कि इस मंदिर में भगवान शिव की मूर्ति स्थापित है। वहां के स्थानीय लोगों के अनुसार भगवान शिव को भगवान काडू के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर की परंपरा के अनुसार, माना जाता है कि यहां पर इच्छा पूरी हो जाने के बाद लोग अपने खेतों या जमीन के पत्थर लाकर यहां चढ़ाते हैं।

ज्यादातर होते हैं किसान

आपको बता दें कि कर्नाटक के इस मंदिर के आसपास के क्षेत्र में ज्यादातर संख्या में किसान लोग या खेती पर निर्भर लोग रहते हैं। इसलिए इस मंदिर में आने वाले ज्यादातर श्रद्धालु किसान ही होते हैं। सभी किसान श्रद्धालु अपने जीवन में सुख और स्वस्थ जीवन के साथ अच्छी फसल के लिए प्रार्थना करते हैं। फसलों की कटाई के बाद लोग इस मंदिर में आकर 3 या 5 पत्थरों का चढ़ावा चढ़ाते हैं।

ये भी पढ़ें

Atal Bihari Vajpayee age 10 unseen pics facts

अटल बिहारी वाजपेयी की 10 दुर्लभ तस्वीरें और रोचक तथ्य

भारत के 93 साल (उम्र) के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नहीं रहे। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *