Sunday , July 12 2020
Home > Technology > टिक टॉक पर गूगल-एपल ने लगाया बैन, कोर्ट ने दिया था निर्देश
tik-tok-app-ban-in-india-removed-from-google-apple-store

टिक टॉक पर गूगल-एपल ने लगाया बैन, कोर्ट ने दिया था निर्देश

सोशल मीडिया पर चर्चा चल रही है कि एक प्रजाति विलुप्त होने वाली है। इस खास प्रजाति को Tik Tok यूजर्स कहा जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि एपल और गूगल ने मद्रास हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म ऐप टिक टॉक को अपने-अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है।

एपल और गूगल के इस कदम के बाद टिक टॉक ऐप को गूगल के प्ले स्टोर और एपल के ऐप स्टोर से डाउनलोड नहीं किया जा सकेगा। हालांकि फिर भी डाउनलोड करने का एक तरीका है।

लोग इसे अब कई थर्ड पार्टी ऐप वेबसाइट्स से डाउनलोड कर रहे हैं। खासतौर से इस ऐप को APK मिरर की वेबसाइट से .apk फाइल में डाउनलोड किया जा रहा है।

टिक टॉक बैन मामला

कोर्ट ने क्यों दिया रोक लगाने का आदेश

हाल ही में मदुरई के वरिष्ठ वकील और सामाजिक कार्यकर्ता मुथु कुमार ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी और इस ऐप को बैन करने की मांग की थी। जिसकी सुनवाई करते हुए 5 अप्रैल को मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै बेंच ने केंद्र सरकार को निर्देश जारी किया और कहा है कि वह पॉपुलर मोबाइल वीडियो ऐप Tik Tok की डाउनलोडिंग पर जल्द से जल्द रोक लगाए।

इसके बाद, चीन की Bytedance टेक्नोलॉजी कंपनी ने कोर्ट से ऐप पर से बैन खत्म करने की अपील की थी, लेकिन कोर्ट ने कंपनी की दलील अस्वीकार कर दिया था। जिसके बाद केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट के आदेश पर ऐपल और गूगल को ऐप को अपने प्लेटफॉर्म से हटाने के लिए लेटर लिखा।

इसके बाद, गूगल और ऐपल ने टिक टॉक ऐप को प्ले स्टोर से हटा दिया है। हालांकि अब भी इसे कुछ वेबसाइट्स पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है।

टिक टॉक बैन करने की क्यों उठी मांग-

टिक टॉक ऐप का क्रेज बच्चों में काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है और साथ ही साथ विडियोज में अब अश्लील कंटेंट का चलन भी काफी तेजी से बढ़ रहा है। अश्लील वीडियो के चलन को लेकर आपत्ति दर्ज कराई गई थी और कहा गया था कि ये विडियोज संस्कृति को नुकसान पहुंचाने का काम कर रही है।

क्या है टिक टॉक ऐप?

‘टिक-टॉक’ प्ले स्टोर पर मौजूद वो ऐप्लिकेशन है जिसकी मदद से स्मार्टफोन यूजर छोटे-छोटे वीडियो बना कर शेयर करते हैं। ‘Bytedance’  इसके स्वामित्व वाली कंपनी है, जिसने चीन में सितंबर, 2016 को टिक-टॉक लॉन्च किया था। साल 2018 में ‘टिक-टॉक’ की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ी और अक्टूबर 2018 में इस ऐप को सबसे ज्यादा अमेरिका में डाउनलोड किया गया था।

गूगल प्ले स्टोर पर टिक-टॉक को ‘Short videos for you’ (आपके लिए छोटे वीडियो) कहकर परिभाषित किया गया है। धीरे धीरे लोकप्रिय हो चुका टिक-टॉक ऐप का नाम पहले म्यूजिकल्ली था, जिसे बाद में बदल कर टिक टॉक कर दिया गया था। इस ऐप को पूरी दुनिया में करीब 500 मिलियन से ज्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं।

ये भी पढ़ें

टिकटॉक की कंपनी बाइटडांस अब म्यूजिक स्ट्रीमिंग में करेगी धमाका!

टिकटॉक की कंपनी बाइटडांस टेक्नोलॉजी जल्द ही दुनिया में एक नई म्यूजिक स्ट्रीमिंग एप पेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *