Monday , January 17 2022
Home > Understand India > ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं? जानें क्या होती है प्रोनिंग प्रोसेस?
ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं

ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं? जानें क्या होती है प्रोनिंग प्रोसेस?

कोरोना वायरस की दूसरी लहर पहले से ज्यादा खतरनाक और डराने वाली है। शवों की लंबी कतार, अस्पतालों में रोते परिवार, दर-दर भटकते मरीज। बेड की कमी, आईसीयू की कमी, ऑक्सीजन की कमी, इन सब दृश्यों को देख रूह कांप रही है। देश की पूरी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है।

कोरोना वायरस सीधा फेंफड़ों पर असर करता है और जिस कारण लोगों को सांस लेने में दिक्कत होती है। ऑक्सीजन लेवल गिरने लगता है, जो कि परेशानी बढ़ा रहा है। ऐसे में आप लोग अगर ऑक्सीमीटर पर ऑक्सीजन काउंट चेक कर सकते हैं, तो हर रोज एक बार जरूर करें। शरीर में ऑक्सीजन का लेवल 94 के ऊपर रहना चाहिए, इसके नीचे जाने पर खतरा बढ़ जाता है।

चलिए इस आर्टिकल में जानते हैं कि आप घर पर रह कर ही अपना ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं? इसके लिए सबसे आसान तरीका प्रोनिंग (Proning) का है। चलिए जानते हैं क्या है प्रोनिंग का प्रोसेस।

प्रोनिंग (Proning) से ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं?

प्रोनिंग एक तरह की प्रक्रिया है जिससे मरीज अपना ऑक्सीजन लेवल खुद ही मेनटेन कर सकता है। प्रोनिंग ऑक्सीजन बढ़ाने के लिए 80% तक कारगर है।

ये प्रक्रिया पेट के बल लेटकर पूरी की जाती है। इसे मेडिकली भी स्वीकार किया गया है। कोरोना से पीड़ित लोग खासकर जो होम आइसोलशन में हैं, उन्हें ये जरूर करनी चाहिए।

कब करें प्रोनिंग

अगर आप होम आइसोलेशन में हैं, तो इसे करते रहें। इससे किसी तरह का नुकसान नहीं होता है। इसके अलावा जिनका ऑक्सीजन लेवल 94 से कम हो गया है वो भी इसे कर सकते हैं।

कैसे करें प्रोनिंग

सबसे पहले रोगी को पेट के बल लिटा दें। इसके बाद एक नर्म तकिया मुंह या गर्दन के नीचे रखें। एक या दो तकिया छाती और पेट के नीचे रखें। दो तकियों को टांगों के नीचे रख दें। इसमें चार या पांच तकियों की जरूरत पड़ती है। ऐसा करने से फेफड़े अच्छी तरह से काम कर पाते हैं। जिससे शरीर में तुरंत ऑक्सीजन लेवल बढ़ने लगता है। इसे 30 मिनट से लेकर 2 घंटों तक किया जा सकता है।

प्रोनिंग पोजिशन (पेट के बल लेट कर)

शरीर में ऑक्सीजन लेवल
प्रोनिंग पोजीशन

बार बार अपनी पॉजिशन बदलते रहें

– मरीज को बाएं(left) ओर करवट लेकर लिटा दें

– फिर रोगी को टेक लगाकर बिठा दें

– इसके बाद रोगी को दाएं(right) ओर करवट लेकर लिटा दें

– फिर से पहले वाली पोजीशन पर आ जाए यानि की प्रोनिंग पोजीशन में

ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं

कब ना करें प्रोनिंग

  • भोजन करने के बाद 1 घंटे तक इस क्रिया को नहीं करना है।
  • इसे तभी करना है जब आपको ये क्रिया करना आसान लगे।
  • गर्भवती महिलाओं और हार्ट अटैक की कंडीशन में इस क्रिया को नहीं करवाना है।
  • स्पाइनल समस्या हो तो भी प्रोनिंग ना करें।

ये भी पढ़ें

बर्ड फ्लू

बर्ड फ्लू से डरने की जरूरत है या नहीं? जाने सारे सवालों के जवाब

भारत में अभी कोरोना वायरस का संकट खत्म भी नहीं हुआ है कि कई राज्यों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *