Saturday , August 24 2019
Home > Sports > क्या है Obstructing The Field? क्रिकेट इतिहास में 10 बार इस नियम से आउट हुए बल्लेबाज
what-is-obstructing-the-field-out-rule-of-cricket क्या है Obstructing The Field

क्या है Obstructing The Field? क्रिकेट इतिहास में 10 बार इस नियम से आउट हुए बल्लेबाज

Obstructing the field जिसे हिन्दी में ‘मैदान में बाधा उत्पन्न करना’ कहा जाता है। किसी भी बल्लेबाज को आउट करने वाले 10 तरीकों में से एक है। इसी का शिकार IPL 12 में अमित मिश्रा भी हुए थे, तो चलिए जानते हैं कि क्या कहता है Obstructing the field नियम, और क्रिकेट के इतिहास में कितने लोग इस नियम के तहत आउट हुए हैं।

ये नियम कहता है कि अगर कोई बल्लेबाज जानबूझकर किसी तरह से फील्डिंग साइड को रोकने या डिस्ट्रेक्ट करने की कोशिश करता है, तो वो लॉ 37 के अंतर्गत दोषी होगा और उसे आउट दिया जाएगा।

ज्यादातर केस में Obstructing the field नियम का इस्तेमाल तब होता है जब किसी बल्लेबाज को लगे कि वो रनआउट होने वाला है और उससे बचने के लिए वो गेंद को अपने बैट या शरीर के किसी अंग से रोके या उसकी दिशा बदल दे या फिर भागते वक्त बल्लेबाज अपनी दिशा बदल कर विकेट को ब्लॉक करने की कोशिश करे तो उसे आउट दिया जाता है, लेकिन अगर ये जानबूझकर नहीं किया गया है या गेंद की दिशा अलग है तो उसे आउट करार नहीं दिया जाता है।

क्रिकेट के इतिहास में इस तरह से कई बार बल्लेबाज आउट हुए हैं, हालांकि ये बहुत कम होता है। आपको बता दें कि इस तरह से बल्लेबाज 1 बार टेस्ट में, 6 बार वनडे में, 1 बार T-20 और 2 बार IPL में आउट हुए हैं।

लेन हटन

Len Hutton (लेन हटन ) इकलौटे ऐसे बल्लेबाज है जो कि टेस्ट क्रिकेट में इस तरह से आउट हुए हैं। वो साल 1951 में ओवल में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे मैच में इस तरह से आउट हुए थे। दक्षिण अफ्रीका के इंग्लैंड टूर के 5वें टेस्ट मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाज Len आउट हुए थे।

रमीज राजा

वनडे में साल 1987 में पाकिस्तान के खिलाड़ी रमीज राजा (Rameez Raja) इंग्लैंड के खिलाफ रन आउट से बचने के लिए गेंद को अपने बल्ले से दूसरी दिशा में करते हुए दिखे थे, जिस वजह से वो आउट हो गए थे।

मोहिंदर अमरनाथ

इसके बाद साल 1989 में भारत के मोहिंदर अमरनाथ (Mohinder Amarnath) श्रीलंका के खिलाफ रन आउट से बचने के लिए गेंद को लात मारते हुए Obstructing the field नियम के तहत आउट दिए गए थे।

इंजमाम-उल-हक

इसके बाद साल 2006 में पाकिस्तान के इंजमाम-उल-हक (Inzamam-ul-Haq) भारत के खिलाफ इसी तरह से आउट हुए थे। सुरेश रैना (Suresh Raina) ने गेंद को विकेट की तरफ फेंका और रन आउट से बचने के लिए हक ने बॉल को बैट से रोकने की कोशिश की थी, जिस पर उन्हें अंपायर ने आउट करार दिया था।

मोहम्मद हाफिज

साल 2013 में पाकिस्तान के खिलाड़ी मोहम्मद हाफिज (Mohammad Hafeez) भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इसी तरह से आउट हुए थे।

अनवर अली

इसी साल (2019) पाकिस्तान टीम के ही अनवर अली (Anwar Ali) भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे मैच में रन आउट से बचने के लिए इसी नियम के अंतर्गत आउट हुए थे।

बेन स्टोक्स

साल 2015 में obstructing the field नियम का शिकार बेन स्टोक्स (Ben Stokes) भी हुए थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रन आउट कर रहे खिलाड़ी मिशेल स्टार्क के द्वारा फेंकी गई गेंद को हाथ से रोका था।

जेसन रॉय

23 जून 2017 में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच में टी-20 मैच खेला जा रहा था, जिसमें जेसन रॉय (Jason Roy) ने भागते हुए अपनी दिशा बदल ली थी, जिससे बॉल उन्हें लगी और वो क्रीज से बाहर थे, साथ ही उन्होंने विकेट को भी कवर किया हुआ था। जिसमें वो आउट करार दिए गए थे।

युसूफ पठान

साल 2013 में खेले गए IPL में कोलकाता की तरफ से खेल रहे युसूफ पठान (Yusuf Pathan) पूणे वॉरियर के खिलाफ इसी नियम के तहत आउट हुए थे।

अमित मिश्रा

IPL 2019 में दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से बल्लेबाजी कर रहे अमित मिश्रा (Amit Mishra) भी सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ इसी नियम के तहत आउट दिए गए हैं। मिश्रा ने रन लेते वक्त अपने भागने की दिशा बदली और नॉन स्ट्राइकर एंड पर खलील अहमद ने गेंद फेंकी जिसमें वो रोढ़ा बन गए थे और इसके बाद उन्हें आउट दिया गया था।

ये भी पढ़ें

hat trick wickets in ipl history

IPL इतिहास में रोहित शर्मा के अलावा इन 15 खिलाड़ियों ने लिए हैट्रिक विकेट

IPL भारत मे किसी त्योहार से कम नहीं है। इस टूर्नामेंट में ऐसे-ऐसे मुकाबले दिखते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *