Thursday , October 22 2020
Home > Entertainment > ओटीटी पर आने वाला पे पर व्यू सिस्टम क्या होता है?
पे पर व्यू

ओटीटी पर आने वाला पे पर व्यू सिस्टम क्या होता है?

लगता है कि आने वाला जमाना ओटीटी प्लैटफॉर्म्स का ही है। जिस तरह से कोरोना काल में सारी फिल्में ओटीटी पर आ रही है, उससे मल्टीप्लैक्स के दिन जाते दिख रहे हैं। ऐसे ही अब एक और फिल्म ओटीटी प्लैटफॉर्म (OTT Platform) पर आ रही है। ये फिल्म अनन्या पांडे और ईशान खट्टर की है। इसका नाम खाली पीली (Khaali peeli) है और ये 2 अक्टूबर को जी 5 (ZEE 5) पर रिलीज हो रही है। ये पहली ऐसी फिल्म है जिसे पे पर व्यू (Pay Per View) के तरीके से रिलीज किया जाएगा।

पे पर व्यू (Pay Per View) का मतलब हुआ की जितनी बार भी आप इस फिल्म को देखेंगे, उतनी बार आपको पैसे देने पड़ेंगे। ठीक वैसे ही जैसे सिनेमा हॉल में आप जितनी बार भी फिल्म देखने जाते हैं, उतनी बार टिकट लेनी होती है।

अभी क्या है ओटीटी प्लैटफॉर्म्स पर सिस्टम?

अलग-अलग ओटीटी प्लैटफॉर्म (OTT Platform) का अलग हिसाब है। जैसे हॉटस्टार में सब्सक्रिप्शन के बिना भी यूजर्स कुछ वीडियोज को देख सकते हैं। इसके अलावा हॉटस्टार में 2 तरह के प्लान है। प्रीमियम और वीआईपी। वीआईपी प्लान थोड़ा सस्ता होता है, लेकिन इसमें कॉन्टेंट काफी लिमिटेड होता है। वहीं प्रीमियम में सारा कॉन्टेंट उपलब्ध होता है। जैसे कि ‘दिल बेचारा’ हॉटस्टार पर सभी लोग फ्री में देख सकते थे। लेकिन ‘सड़क 2’ देखने के लिए कम से कम वीआईपी प्लान जरूरी था। तो वहीं, डिज्नी की ज्यादातर फिल्में देखने के लिए प्रीमियम प्लान लेना होता है।

इसके अलावा एमेजॉन प्राइम और नेटफ्लिक्स का कोई भी वीडियो देखने के लिए आपके पास सब्सक्रिप्शन होना जरूरी होता है।

खाली पीली जी 5 (ZEE 5) पर रिलीज हो रही है। हॉटस्टार की तरह ही इसमें भी कुछ वीडियोज फ्री में देखी जा सकती है। इसके बाद क्लब मेंबरशिप होती है। इसमें जी के एंटरटेनमेंट चैनल्स के शोज देखें जाते हैं। ये शोज आप टीवी से पहले देख सकते हैं। फिर आता है प्रीमियम प्लान, जिसमें जी 5 (ZEE 5) का एक्स्क्लूसिव कॉन्टेंट देखा जा सकता है।

क्या पे पर व्यू (Pay Per View) जैसा कोई और सिस्टम है अभी?

पे पर व्यू सिस्टम तो नहीं, लेकिन यूट्यूब फिल्म रेंट पर लेने की सुविधा देता है। प्रीमियम फिल्मों को आप 48 घंटों के लिए रेंट पर ले सकते हैं। इन 48 घंटों में आप फिल्म को जितनी मर्जी बार देख सकते हैं। ज्यादातर फिल्में 100-120 रुपये के रेंटल पर उपलब्ध होती हैं। इसके साथ ही यूट्यूब फिल्म खरीदने का भी विकल्प देता है।

पे पर व्यू (Pay per view) में कितने पैसे देने होंगे?

जी स्टूडियो के सीईओ शारिक पटेल ने दैनिक भास्कर को बताया कि जिस तरह लोग टाटा स्काई शोकेस में 99 रुपये देखर फिल्म देखते हैं। वैसा ही यहां पर भी होगा, हालांकि अभी कीमत तय नहीं की गई है।

शारिक पटेल ने बताया कि मल्टीप्लेक्स में फिल्म देखने और खाने-पीने के खर्च का औसत पैसा ओटीटी प्लेटफॉर्म (OTT Platform) पर खर्च करना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें

Covid-19

COVID-19 के हवा में फैलने से जुड़े जरूरी सवाल!

WHO के वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस हवा में भी मौजूद है। कोरोना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *