Thursday , July 1 2021
Home > Understand India > प्लाज्मा थेरेपी क्या है और कैसे होता है इससे कोरोना वायरस का इलाज?
प्लाज्मा थेरेपी क्या है

प्लाज्मा थेरेपी क्या है और कैसे होता है इससे कोरोना वायरस का इलाज?

कोरोना वायरस के केस देश में लगातार बढ़ रहे हैं। देश में कोरोना वायरस से जुड़े लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। लेकिन इस बीच देशवासियों के लिए एक राहत की खबर प्लाज्मा थेरेपी के नाम से सामने आई है। देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी का इस्तेमाल किया जा रहा है और जो कि काफी सफल भी साबित हो रही है। अब आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि प्लाज्मा थेरेपी क्या है? इसके जरिये कैसे मरीजों को ठीक किया जा सकता है।

प्लाज्मा थेरेपी क्या है?

प्लाज्मा थेरेपी में कोरोना संक्रमण से ठीक हो गए लोगों के खून से प्लाज्मा निकालकर दूसरे कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति को चढ़ा दिया जाता है। दरअसल संक्रमण से ठीक हुए व्यक्ति के शरीर में उस वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता बन जाती है और 3 हफ्ते बाद उसे प्लाज्मा के रूप में किसी संक्रमित व्यक्ति को दिया जा सकता है ताकि उसके शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने लगे।

प्लाज्मा थेरेपी क्या है

कोरोना संक्रमण से ठीक हुए व्यक्ति के खून से प्लाज्मा अलग कर निकाला जाता है। एक बार में संक्रमण से ठीक हुए व्यक्ति के शरीर से 400ml प्लाज्मा निकाला जा सकता है। इस 400ml प्लाज्मा को दो संक्रमित मरीजों को दिया जा सकता है।

इससे कैसे किया जाता है इलाज

कोरोना से ठीक हो चुके मरीज के शरीर में एंटीबॉडी बन जाती है जो उस वायरस से लड़ने के लिए होती है। एंटीबॉडी ऐसे प्रोटीन होते हैं जो इस वायरस को खत्म कर सकते हैं। वो एंटीबॉडी अगर प्लाज्मा के जरिए किसी मरीज को चढ़ाएं तो वो एंटीबॉडी उसके शरीर में मौजूद वायरस को मार सकती है।

प्लाज्मा थेरेपी कोई नई थेरेपी नहीं है। डॉक्टरों का मानना है की ये एक प्रॉमिनेंट थेरेपी है जिसका फायदा भी हुआ है और कई वायरल संक्रमण में इसका पहले भी इस्तेमाल हुआ है।

ये भी पढ़ें

कोरोना वैक्सीनेशन

कोरोना वैक्सीनेशन से जुड़े सारे सवालों के जवाब पाएं!

भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का पहला चरण शुरु हो गया है। माना जा रहा है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *