Monday , May 10 2021
Home > Business > पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम क्या है? जानिए इसके फायदे
सबसे अच्छी निवेश योजना पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)स्कीम
image source- myMoneySage

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम क्या है? जानिए इसके फायदे

साल 1968 में भारत सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund-PPF) स्कीम की शुरुआत की थी। इसका उद्देश्य unorganized क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए EPF, पेंशन आदि की सुविधा पहुंचाना है। सबसे अच्छी निवेश योजना पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम क्या है?

सरकार ने PPF को हर तरह के टैक्स से मुक्त रखा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस स्कीम को अपना सकें और इसका लाभ ले सकें।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम क्या है?

यह एक ऐसी सेविंग स्कीम है जो अच्छे ब्याज के साथ-साथ टैक्स सेविंग भी कराती है। इस स्कीम को खुद सरकार चलाती है और वही ब्याज भी देती है।सरकार अपने पोस्ट ऑफिस और बैंकों के जरिए PPF स्कीम को चलाती है।

चलिए जानते है पब्लिक प्रोविडेंट फंड स्कीम (PPF Scheme) के बारे में विस्तार से।

पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड(PPF)
पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड

 योग्यता

– देश का कोई भी नागरिक फिर चाहे वो सर्विसमैन हों, बिजनेसमैन हो या किसान हो, इसमें अपना अकाउंट (account) खोल सकते हैं।

– इसमें कोई आयु सीमा भी नहीं है। ​आप अपने बच्चे के लिए भी PPF अकाउंट खुलवा सकते हैं।

– लेकिन, इस बात का खास ध्यान रखना होगा की आप अपने नाम से सिर्फ एक PPF अकाउंट ही खुलवा सकते हैं।

– अगर पहले से आपके नाम से कोई PPF अकाउंट होगा तो ऐसी स्थिति में आप न तो अपने नाम से और न ही किसी के साथ ज्वाइंट अकाउंट खोल सकते हैं।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) खाता कैसे खुलवाएं ?

किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक जैसे कि भारतीय स्टेट बैंक, केनरा बैंक, आई.सी.आई.सी.आई बैंक, एच.डी.एफ.सी बैंक और पंजाब नेशनल बैंक आदि भी PPF अकाउंट खोलने की सुविधा देते हैं। यहां जाकर PPF खाता खुलवाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें – घर बैठे पैसे कैसे कमाए, ये 7 काम कर सकते हैं आप

ब्याज दर (interest rate)

इस समय PPF पर 7.10 फीसद का ब्याज मिल रहा है।

अकाउंट की मेच्योरिटी

PPF अकाउंट की मेच्योरिटी अवधि कम से कम 15 साल होती है। यानी की आप 15 साल से पहले इसमें से पैसा नहीं निकाल सकते। हालांकि, मेच्योरिटी के बाद आप एप्लीकेशन देकर पांच साल के लिए मेच्योरिटी अवधि को बढ़वा सकते हैं।

जमा राशि

PPF में खाता खोलने के लिए प्रारंभिक जमा राशि 100 रूपए है और वार्षिक जमा राशि 500 से 1.50 लाख तक प्रति वर्ष है।

कितनी बार में जमा करें

खाते को चालू रखने के लिए 15 सालों तक हर साल राशि जमा की जानी चाहिए। एक साल में अधिकतम 12 किश्तें बनवायी जा सकती है।

PPF को जमा करवाने का तरीका

पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड(PPF) को ऑनलाइन, नकद, चेक, डीडी (demand draft), एनईएफटी, इनमें से किसी भी तरह से जमा कराया जा सकता है।

ये भी पढ़ें – सैलरी और सेविंग अकाउंट में फर्क क्या होता है?

PPF से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

– पीपीएफ पर ब्याज की दर सरकार हर तिमाही की शुरुआत में तय करती है।

– सबसे अच्छी निवेश योजना पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)स्कीम है।

– इसके ब्याज से होने वाली आय पूरी तरह इनकम टैक्स के दायरे से बाहर होती है।

– अगर आप लोन लेना चाहते है और पैसा निकलवाना चाहते है तो यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका पीपीएफ अकाउंट कितना पुराना है और उसमें कितनी राशि जमा है।

– आप निवेश के तीसरे से छठे साल के दौरान लोन ले सकते हैं। वहीं, सातवें वित्त वर्ष (financial year) से पैसा निकलवाने की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं ।

– अगर आप एक वित्त वर्ष में कम से कम 500 रुपये नहीं भर पाते हैं, तो आपका अकाउंट डिएक्टिवेट हो जाएगा।

 

ये भी पढ़ें

शराब से राज्यों की कमाई कैसे होती है

शराब से राज्यों की कमाई कैसे होती है?

देश में लॉकडाउन की वजह से सब कुछ बंद है। लेकिन तीसरे लॉकडाउन में सरकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *