Wednesday , June 30 2021
Home > Understand India > कौन है विंग कमांडर अभिनंदन? जानें उनकी जिंदगी से जुड़ी अहम बातें
wing commander abhinandan

कौन है विंग कमांडर अभिनंदन? जानें उनकी जिंदगी से जुड़ी अहम बातें

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान से भारत के हवाल कर दिए गए हैं। वो पंजाब के वाघा बॉर्डर से भारत लौटेंगे, जिसके लिए सारी तैयारियां पूरी हो गई है। भारत के बॉर्डर पर जनता अपने इस हीरो के इंतजार में पलके बिछाएं बैठे हैं।

उनको लेने के लिए चेन्नई से उनके माता-पिता वाघा बॉर्डर पर है। भारत के इस वीर सपूत के बारे में जानने से पहले बताते चलें कि वो पाकिस्तानी सेना के कब्जे में कैसे पहुंच गए थे।

14 फरवरी का वो काला दिन

दरअसल ये एक सिलसिलेवार घटना का नतीजा था। इसकी शुरुआत 14 फरवरी को हुई जब जम्मू कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर एक फिदायीन हमला हुआ। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। पूरा देश गम में दूबा।

इसका जवाब एयरफोर्स ने 26 फरवरी को दिया, जब पाकिस्तान की सीमा के अंदर भारतीय एयरफोर्स के विमान जाते हैं और वहां पर कथित रूप से 300 के करीब आतंकियों को मारने की खबर आती है।

अभिनंदन कैसे पहुंचे पाकिस्तान

इंडियन एयरफोर्स ने 26 फरवरी को सुबह पाक अधिकृत कश्मीर में जाकर जैश के ट्रेंनिंग कैंप को तबाह किया। भारतीय वायुसेना की इस एयरस्ट्राइक में पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश को ट्रेनिंग कैंप को भी तबाह करन की बात सामने आई। इससे पाकिस्तान के अंदर हलचल मच गई और पाकिस्तान ने अगले दिन यानी 27 फरवरी को अपनी वायुसेना के सबसे घातक लड़ाकू विमान एफ-16 भारत में भेज दिए।

इसी का जवाब देने के लिए विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान निकल गए थे। उन्होंने अपने मिग 21 से दुश्मनों पर हमले किए। जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में भारतीय वायुसेना के मिग 21 विमान ने पाकिस्तान की ओर से भेजे गए एफ-16 को गिराया गया है। लेकिन दुर्भाग्य से भारत का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसमें एक पायलट गायब हुआ और वो पायलट अभिनंदन थे। जिन्हें पाकिस्तान ने कब्जे में लिया था।

आइए अभिनंदन के बारे में कुछ बातें जानते हैं

  1. विंग कमांडर अभिनंदन 34 साल के हैं और वो नेशनल डिफेंस एकेडमी से ग्रेजुएट हैं।
  2. अभिनंदन तमिलनाडु शहर से ताल्लुक रखते हैं। उनकी पैतृक जड़ें थिरुपनामूर गांव में हैं। और उनके माता-पिता चेन्नई में ही रहते हैं। साल 2004 में उनका इंडियन एयरफोर्स में चयन हुआ था।
  3. अपने 15 सालों के कॅरियर में वो दो बार प्रमोट हुए हैं। पहले उन्हें एक निपुण सुखोई 30 फाइटर पायलट का खिताब मिला था। जिसके बाद में उनके युद्ध कौशल को देखते हुए विंग कमांडर के रूप में प्रमोट किया गया था। जिसके बाद उन्‍हें मिग 21 बिसन सौंप दिया गया था।
  4. उनकी एयरफोर्स की ट्रेनिंग भटिंडा और हलवारा में हुई थी। वो सूर्य किरण एक्रोबेटिक टीम से हैं।
  5. अभिनंदन जानेमाने पूर्व पायलट एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्धमान के बेटे हैं और वो पूर्वी वायु कमान के मुखिया पद से सेवानिवृत्त हुए थे।
  6. ये एक महज संयोग है कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के पिता, एयर मार्शल एस वर्धमान, मणि रत्नम की फिल्म कात्रु वेलियिदाई में सलाहकार थे। ये फिल्म भारतीय वायुसेना के पाकिस्तान में पकड़े जाने पर ही आधारित थी। इस फिल्म में साल 1999 के कारगिल युद्ध के दौरान भारतीय वायुसेना के स्वाक्ड्रन लीडर वरुण चक्रपाणी दुश्मन के इलाके में पहुंचते हैं और उनके फाइटर जेट को नीचे गिरा दिया जाता है। रावलपिंडी में पाकिस्तानी सेना उन्हें पकड़ती है। उन्हें युद्ध कैदी के तौर पर पकड़ा जाता है और यातनाएं दी जाती हैं।
  7. आपको बता दें कि अभिनंदन की मां एक डॉक्टर हैं।
  8. अभिनंदन एक बहादुर परिवार से आते हैं और उनकी पत्नी भी भारतीय वायुसेना में स्क्वॉड्रन लीडर रह चुकी हैं। उनके दो बच्चे हैं।
  9. अभिनंदन के भाई भी इंडियन एयरफोर्स को अपनी सेवाएं दे रहे हैं।
  10. अभिनंदन की शुरुआती पढ़ाई चेन्नई के सैनिक वेलफेयर स्कूल, अमावतीनगर से हुई है।

डॉक्यूमेंट्री में भी नजर आए थे अभिनंदन

साल 2011 में एक टीवी चैनल ने भारतीय वायुसेना पर अपनी एक डॉक्यूटमेंट्री बनाई थी, जिसमें विंग कमांडर अभिनंदन को शामिल किया था। इसमें वो अपने कुछ दोस्तों के साथ कैमरे पर दिखाई देते हैं। इस दौरान हंसी-मजाक के बीच उनके दोस्त मानते हैं कि अभिनंदन में पढ़ने को लेकर काफी संजीदगी रही है। वो बहुत पढ़ते हैं और साथ ही उनके दोस्तों ने ये भी माना कि वो एक अच्छे वक्ता भी हैं। वायुसेना के आंतरिक कार्यक्रमों में अभिनंदन को अक्सर बोलने के लिए कहा जाता है।

उस डॉक्यूमेंट्री में खाने की टेबल पर अभिनंदन ने कहा कि सेना का काम मेरे जैसे लोगों के लिए है। सेना में सबसे ज्यादा जरूरत सहनशक्ति की होती है। हमें बेहद कठिन माहौल में भी अपने धैर्य को बनाए रखना होता है।

ये भी पढ़ें

कोरोना वैक्सीनेशन

कोरोना वैक्सीनेशन से जुड़े सारे सवालों के जवाब पाएं!

भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का पहला चरण शुरु हो गया है। माना जा रहा है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *