Thursday , February 21 2019
Home > Understand India > जानिए भारत के बेहद ही अजीबोगरीब ‘Laws’ के बारे में, जिन्हें कर दिया गया खत्म
Amazing-indian-law

जानिए भारत के बेहद ही अजीबोगरीब ‘Laws’ के बारे में, जिन्हें कर दिया गया खत्म

देश में कुछ सालों पहले तक ऐसे बहुत से कानून ‘Laws’ थे जिनके बारे में सुनकर आपकी हंसी छूट जाएगी। आप भी सोचेंगे कि आखिर किस आधार पर ऐसे कानून बना दिए गए। मौजूदा सरकार ने कई सारे कानूनों को खत्म कर दिया है, लेकिन आपको जानना चाहिए कि क्या थे वो कानून जिनके होने या न होने से आपको क्या फर्क पड़ता है?

Laws होना चाहिए पतंग उड़ाने का लाइसेंस

80 साल पहले एयरक्राफ्ट कानून 1934 बना था। जिसके मुताबिक आपको पतंग उड़ाने के लिए लाइसेंस की जरूरत होती थी। यानी अगर कोई बिना परमिट के पतंग उड़ाता हुआ दिखाई दिया तो उसे गिरफ्तार किया जा सकता था। बिना परमिट के आप किसी पतंंग उत्सव में भी शामिल नहीं हो सकते थे। इस कानून को हाल ही में खत्म किया गया।

ट्रैफिक इंस्पेक्टर के दांत साफ होने चाहिए

1914 में आंध्र में कानूनी प्रावधान में लाया गया कि ट्रैफिक इंस्पेक्टर के दांत हरदम चमकने चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है तो इंस्पेक्टर को अयोग्य माना जाएगा।

10 रुपये से ज्यादा मिले तो सरकार को बताओ

पुराने ट्रेजर एक्ट के मुताबिक अगर 10 रुपये से ज्यादा आपको सड़क पर मिलें तो इसकी जानकारी अथॉरिटी को देनी होती थी। ऐसा नहीं करने पर जेल भी जाने का प्रावधान था।

 

आपको सड़क पर ड्रम बजाना होगा

ये कानून दिल्ली वालों के लिए था कि अगर शहर में टिड्डियों की संख्या बढ़ गई है तो आपको सड़क पर ड्रम बजाने के लिए बुलाया जा सकता है। अगर आप मना करते हैं या नहीं पहुंच पाते हैं तो आप पर 50 रुपये का जुर्माना और 1 साल तक की जेल का प्रावधान था। इसे खत्म कर दिया गया।

 

मोदी सरकार अब तक करीब 1175 ऐसे अजब-गजब कानूनों को खत्म कर चुकी है जो आज के हिसाब से फिट नहीं बैठते थे। ऐसे कानूनों की फेरहिस्त अभी बाकी है जो जल्द ही प्रभाव से बाहर कर दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें

North MCD school devided students into Hindu Muslim

धर्म की शिक्षा या कर्म की… कहां जा रहा है देश का भविष्य?

धर्म के नाम पर बांटने का नशा कुछ इस हद तक चढ़ा हुआ है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *